नपुंसकता

नपुंसकता का आयुर्वेदिक उपचार 

आजकल की जीवनशैली में काफी परिवर्तन आ गया है। जिस वजह से कई सारी बीमारियां शरीर को लगने लगती हैं। ऐसी ही एक समस्या है जिनसे आजकल का युवा वर्ग परेशान है वो है नपुंसकता। जब आदमी पूरी तरह से सेक्स करने में असमर्थ हो जाता है, तो वह नपुंसक या नामर्द कहलाता है। इस रोग में पुरुषों में लिंग की उत्तेजना शक्ति कम हो जाती है या संभोग के समय लिंग में तनाव नहीं आता है। यदि लिंग में तनाव उत्पन्न हो भी तो लिंग लंबे समय तक तनाव में नहीं रह पाता है। जिसके परिणाम स्वरुप पुरुष अपनी महिला जीवनसाथी को संतुष्ट नहीं कर पाता। इस कारण कई परिवार नष्ट हो जाती हैं। यौन संभोग के समय को बढ़ाने के लिए बहुत से लोग शराब या नशीली दवाओं का का उपयोग करते हैं। परन्तु लम्बे समय तक नशे इत्यादि का उपयोग करने से रोगी पूरी पूरी तरह नपुंसकता शिकार हो जाता है।

नपुंसकता की समस्या दुनिया भर के लोगों में एक महामारी की तरह बढ़ रही है। यह आपको जीवन के किसी भी स्तर पर दस्तक दे सकती है और आपका अपने शारीरिक जीवन का आनंद लेना मुश्किल हो सकता है। इसके कारण आदमी को उसकी महिला साथी के सामने बहुत शर्मिंदा होता है। पुरुष अपनी मर्दाना शक्ति के लिए ही प्रसिद्ध है। इसलिए स्थिति नियत्रण से बाहर होने से पूर्व ही नपुंसकता का उपचार महत्वपूर्ण है। यदि यह समस्या का हल नहीं होती है, तो एक पुरुष अपनी साथी के साथ सोते समय साहस खो देगा।

नपुंसकता की वजह से पुरूष काफी शर्म का अनुभव करता है। और इस वजह से परिवार व पत्नी से तरह-तरह की बातें सुनता है। नपुंसकता के शिकार कई पुरुष डॉक्टर के पास जाने से झिझकते हैं, जिससे इलाज में देरी हो जाती है। किसी दूसरी बीमारी की तरह नपुंसकता भी एक बीमारी ही है, जिसका इलाज संभव है। जैसे ही किसी पुरुष को इसके लक्षण दिखाई पड़े तो डॉक्टरी सलाह लेने में क़तई देरी न करें, हो सकता हो, ये किसी और बीमारी के लक्षण हों। इसका उपचार भी तो आपको कराना ही होगा।

नपुंसकता के कारण

  1. किशोर अवस्था में हस्त मैथुन करना
  2. मानसिक चिंता अथवा डर होना
  3. होर्मोन्स की गड़बडी जैसे कम टेस्टोस्टेरोन
  4. दुर्घटना, चोट या जननांग अंग के लिए रक्त की आपूर्ति का अभाव
  5. हृदय रोगों, उच्च रक्तचाप, अत्यधिक कोलेस्ट्रॉल आदि के लिए प्रयुक्त दवाइयों के हानिकारक प्रभाव के कारण 
  6. वेश्या के साथ संभोग करने के कारण 
  7. मधुमेह का रोग होना 
  8. स्वपनदोष होना 
  9. अधिक मोटापा होने के कारण 
  10. शराब और तंबाकू का व्यापक उपयोग करने से 
  11. पौष्टिक भोजन ना करना इत्यादि।

नपुंसकता के प्राकृतिक घरेलू उपाय

आयुर्वेदिक उपचार के माध्यम से नपुंसकता पूरी तरह से ठीक हो सकती है। आयुर्वेदिक दवाओं में आवश्यक प्राकृतिक अवयव शामिल हैं जो आपकी शारीरिक शक्ति को बढ़ाते हैं और नपुंसकता के लिए प्रदान करते हैं।

आपको आयुर्वेदिक उपचार का चुनाव क्यों करना चाहिए:

  1. पुरुष जननांग में रक्त के परवाह में सुधार 
  2. हार्मोन्स के असंतुलन में सुधार करना, जैसे कि टेस्टोस्टेरोन
  3. नशे तथा दवाओं के दुष्प्रभावों को शरीर में से बाहर निकाल कर नियंत्रित करना 

इसी प्रकार आपकी सेक्स संबंधी समस्याओं के उपचार में आयुर्वेदिक उपचार के उपयोग के कई अन्य कारण हैं। यह दवाएं उपयोग के लिए 100% सुरक्षित हैं और इनके रोगी के शरीर में कोई हानिकारक प्रभाव नहीं है। आयुर्वेदिक उपचार के साथ आप पहले के समान अपनी साथी के साथ जीवन का आनंद लें सकते हैं।

हमारे द्वारा तैयार की गई आयुर्वेदिक दवाओं को आयुर्वेद के अनुसार जड़ी-बूटियों और मूल्यवान भस्मों के संयोजन से तैयार की जाती हैं। इनके प्रोयग से रोगी खतरनाक बीमारी से भी छुटकारा पा सकता है तथा ठीक होकर, अपनी शारीरिक शक्ति का उपयोग करके इस सांसारिक जीवन का पूर्ण लाभ उठा सकता है।